हमारी अश्रुपूरित श्रद्धाँजलि!

बड़े दुःख के साथ बताना पड़ रहा है कि प्रतिष्ठित अयन प्रकाशन के मालिक सुप्रसिद्ध साहित्यसेवी और साहित्यकारों व साहित्यप्रेमियों के … पढ़ना जारी रखें हमारी अश्रुपूरित श्रद्धाँजलि!

ब्लॉगर रेणुबाला जी द्वारा लिखी गयी मेरी पुस्तक ‘प्रिज़्म से निकले रंग’ की समीक्षा-

ब्लॉग–जगत् जी हाँ ‘जगत्’ (जिसका अर्थ है संसार/दुनिया/जहां/जहान /विश्व आदि, यह संस्कृत भाषा में एक तत्सम शब्द है वहीँ ‘जगत’ का अर्थ कुआँ के आसपास … पढ़ना जारी रखें ब्लॉगर रेणुबाला जी द्वारा लिखी गयी मेरी पुस्तक ‘प्रिज़्म से निकले रंग’ की समीक्षा-